Upi ID Npci Deactivate/Activate Account : सभी यूजर देखें की कहीं आपकी upi id तो नहीं हो गई बंद , जानें पूरी जानकारी

Upi ID Npci Deactivate/Activate Account : नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने हाल ही में एक नई घोषणा की है, जिसके अनुसार वे यूपीआई आईडी को इनैक्टिव करने के लिए नए दिशानिर्देश लागू करेंगे। सभी बैंक और तृतीय-पक्ष ऐप्स जैसे Google Pay, Paytm, PhonePe आदि उन यूपीआई आईडी को ब्लॉक करने की प्रक्रिया में हैं, जिनमें एक साल से अधिक समय से कोई लेन-देन नहीं हुआ है।

Upi ID Npci Deactivate/Activate Account

Upi ID Npci Deactivate/Activate Account
Upi ID Npci Deactivate/Activate Account

31 दिसंबर के बाद, NPCI इन आईडी को ब्लॉक कर देगा, जिनपर पिछले साल से कोई ट्रांजैक्शन नहीं हुआ है। आइए जानते हैं कि इस नए नियम के बारे में और कैसे यह लोगों के बैंकिंग अनुभव को प्रभावित कर सकता है।

क्यूँ होगी UPI ID बंद ? 

यदि आपकी UPI आईडी से कोई भी क्रेडिट या डेबिट नहीं हुआ है, तो आपकी आईडी बंद कर दी जाएगी। इसका मतलब है कि नए साल से आप इस आईडी का उपयोग करके लेन-देन नहीं कर पाएंगे। एनपीसीआई ने बैंकों और थर्ड-पार्टी एप्लिकेशन्स को इन UPI आईडी को पहचानने के लिए 31 दिसंबर तक का समय दिया है। आपके संबंधित बैंक आपकी UPI आईडी को निष्क्रिय करने से पहले आपको एक ईमेल या संदेश के माध्यम से सूचना भेजेंगे।

यह भी पड़ें :- Meri Pehchaan Online Registration : यूजर आईडी और पासवर्ड को अब ऐसे बनाएं , जाने क्या है पूरी जानकारी

यह भी पड़ें :- Life Certificate Online Banana Sikhe : जीवन प्रमाण पत्र को ऑनलाइन कैसे बनाए , जानें क्या है पूरी जानकारी

यह भी पड़ें :- Pm Kisan 15th Installment Final Date : पीएम किसान की 15 वीं किस्त की फाइनल तारीख आ चुकी है , जाने कब पड़ेगी किस्त

जानें क्या है पूरी प्रक्रिया ?

गलत व्यक्ति के खाते में पैसा ट्रांसफर होने से रोकने के लिए उठाया जा रहा यह नियम एनपीसीआई के द्वारा। हमारी उम्मीद है कि इन नए नियमों से गलत व्यक्ति के खाते में पैसा ट्रांसफर होने से रोका जा सकेगा। इस समस्या के सामने आने वाले कई मामलों को ध्यान में रखते हुए, एक स्वागत के योजना के तहत यह नियम स्थापित किया जा रहा है।

हाल के वर्षों में, लोग अक्सर नए फोन से जुड़ी यूपीआई आईडी को निष्क्रिय करने के बारे में याद किए बिना मोबाइल नंबर बदल लेते हैं, जिससे उनका खाता सुरक्षित नहीं रहता। कुछ दिनों तक इस सेवा को बंद करने के बाद भी, उनका नंबर अन्य व्यक्ति के पास पहुंच सकता है, जिससे गलत लेन-देन का खतरा बढ़ जाता है।

Join Whatsapp Channel 
Click Here
Join Telegram Channel Click Here

 

Leave a Comment