Credit Card Loan Scheme New Update : क्रेडिट कार्ड बालों के लिए नया अपडेट आरबीआई नें जारी कीये नए नियम , जानें पूरी जानकारी

Credit Card Loan Scheme New Update : स्मॉल पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड पर ऋण लेने वालों के लिए एक महत्वपूर्ण अपडेट सामने आया है। हम आपको बताना चाहेंगे कि क्रेडिट कार्ड से ऋण लेने वालों पर भारतीय रिजर्व बैंक की गहरी नजर है। ऐसे व्यक्तियों को संभावना है कि ‘नो कॉस्ट ईएमआई’ या ‘बाय नाउ पे लेटर’ जैसे शॉपिंग ऑप्शनों में बदलाव हो सकता है। इस खबर में हम आपको विस्तार से बताएंगे, इसलिए आइए नीचे पढ़ें।

Credit Card Loan Scheme New Update

Credit Card Loan Scheme New Update
Credit Card Loan Scheme New Update

मार्केट में ‘No Cost EMI’ या ‘Buy Now Pay Later’ जैसे स्मॉल लोन के ऑप्शन आने के बाद से, लोगों के लिए Apple iPhone से लेकर छोटी-बड़ी कई तरह की शॉपिंग करना बहुत आसान हो गया है। लेकिन अब भारतीय रिजर्व बैंक ने इस तरह के स्मॉल पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड के उपयोग को लेकर अपनी नजरें तान ली हैं। इसके साथ ही, बैंकों के लिए इससे जुड़े नियमों को भी कड़ाई से लागू कर दिया गया है। इसका मतलब है कि क्या जल्दी ही ‘नो कॉस्ट ईएमआई’ या ‘बाय नाउ पे लेटर’ जैसे ऑप्शन से शॉपिंग होना बंद हो जाएगा?

देश में स्मॉल लोन्स विशेष रूप से ‘चॉकलेट’ की तरह बँट रहे हैं। इसमें अधिकांश लोन 10 हजार रुपए से कम की राशि के होते हैं। बैंकें भी कम्पटीशन में बढ़-चढ़ कर लोगों को इस तरह के लोन प्रदान कर रही हैं। भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) ने इस बैंक व्यापार को खतरनाक माना है और इसके संबंध में बैंकों को कई बार चेतावनी दी है। अब केंद्रीय बैंक ने इस पर कड़ी कार्रवाई की है।

सभी बैंकों को बेहतर करना होगा मैनेजमेंट ?

ये छोटे-छोटे लोन एनपीए में कन्वर्ट ना हों। इसलिए, अब आरबीआई ने बैंकों को इनके बेहतर रिस्क मैनेजमेंट के दिशानिर्देश दिए हैं। आरबीआई का कहना है कि इस तरह के लोन्स से जुड़े रिस्क के लिए बैंकों को अब पहले से ज्यादा राशि अलग से अपनी बैलेंसशीट में रखनी होगी। यानी बैंक अब एनपीए के लिए जैसे अलग से राशि इंतजाम करते हैं, उसी तरह इस तरह के लोन्स के लिए भी ऐसा करना होगा।

यह भी पड़ें :- UP Scholarship Digilocker Verify Kaise Kare : यूपी स्कालर्शिप मे digilocker प्रॉब्लम कैसे ठीक करें , जानें पूरी जानकारी

यह भी पड़ें :- Indane LPG Cylinder Booking Online : गैस बुकिंग के नए नियम , अब ऐसे करें गैस सिलेंडर बुकिंग

यह भी पड़ें :- UP TET New Notification 2023 : सभी छात्रों का इंतजार हुआ खत्म यूपी टेट को लेकर खुशखबरी , जानें क्या है पूरी जानकारी

बस इतना काम से काम नहीं चलेगा। अब बैंकों को एक बोर्ड निरीक्षण प्रक्रिया तैयार करनी होगी, जो वित्तीय सिस्टम में इस प्रकार के ऋणों से आने वाले जोखिमों से बचाव करेगी। आरबीआई ने गुरुवार को ही बैंकों, क्रेडिट कार्ड कंपनियों और गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों के लिए इन जोखिम वेटेज को बढ़ा दिया है।

इनके तहत बड़ाई RBI नें चिंता ?

हालांकि ये छोटे-मोटे ऋण हो सकते हैं, लेकिन आर्थिक सिस्टम में इससे उत्पन्न होने वाले जोखिम का खौफ आर्थिक आईने को है, क्योंकि ये सभी ऋण असुरक्षित हैं। अर्थात, इन ऋणों के बदले में लोग किसी भी संपत्ति को गिरवी में नहीं रखते हैं। असुरक्षित ऋण से जुड़े आंकड़ों ने भी आर्थिक सुरक्षा बोर्ड को चिंतित कर दिया है। देश में असुरक्षित ऋण लेने की दर 23 प्रतिशत बनी हुई है, जबकि देश में सामान्य ऋण लेने की दर 12 से 14 प्रतिशत ही है।

किस लिए बंद होगी No Cost EMI ?

केंद्रीय बैंक के इस कदम से बैंकिंग और वित्त सेक्टर पर सीधा प्रभाव पड़ेगा। इससे बैंकों और वित्तीय कंपनियों के लिए इस प्रकार के ऋण महंगे हो जाएंगे, जिससे उन्हें इन ऋणों को देने से बचने का प्रयास करना पड़ेगा। ऐसा हो सकता है कि वे ग्राहकों से क्रेडिट कार्ड या अन्य तरीके से ईएमआई पर अधिक ब्याज लेना शुरू करें। हालांकि, आरबीआई के ये नियम होम, शिक्षा, वाहन, और सोने आदि के ऋणों पर लागू नहीं होंगे।

Credit Card Loan Website 
Click Here
Join Whatsapp Channel 
Click Here
Join Telegram Channel Click Here

तो इस प्रकार से आप लोगों हमनें बताया है की कैसे क्रेडिट कार्ड बालों के लिए आरबीआई नें नए नियम के तहत बताया है जिसकी पूरी जानकारी को हमनें आप लोगों को बताया है अगर बताई गई जानकारी पसंद आई हो तो अपनें दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

Leave a Comment